Enter your email address: Subscribe Pinnacle:    

SSC CGL Chemistry Notes On Acids And Base For Tier 1 2017 In Hindi

SSC CGL Chemistry Notes On Acids And Base For Tier 1 2017 In Hindi

SSC CGL Chemistry Notes On Acids And Bases For Tier 1 2017

This article covers the General knowledge section of SSC CGL exam. Various topics are covered under GK and one of them is Science. Here we are covering an important concept of base and acid. In every exam  conducted by SSC most probably one or two marks question comes from this topic.

यह लेख मूल रूप से रसायन विज्ञान के सामान्य ज्ञान खंड जो विज्ञान का हिस्सा है उस पर आधारित है, और यह अम्ल और क्षार की अवधारणा है। प्रत्येक एसएससी परीक्षा इस विषय में से लगभग एक या दो अंकों के सवाल आते है।

Acids which are obtained from plants and animals are called organic acid e.g. lactic acid, oxalic acid,

acetic acid.

पौधों और जानवरों से प्राप्त अम्लों को कार्बनिक अम्ल कहा जाता है जैसे लैक्टिक एसिड, ऑक्सालिक एसिड, एसिटिक एसिड

Acids which are obtained from minerals are called mineral acids, e.g. sulphuric acid and phosphoric

acid.

खनिजों से प्राप्त अम्लों को खनिज अम्ल कहा जाता है जैसे सल्फ्यूरिक एसिड और फॉस्फोरिक एसिड।

SSC CGL Chemistry Notes On Acids And Base For Tier 1 2017 In Hindi

According to Arrhenius concept of acids and bases:

अम्लों और क्षारों की अर्हनीस अवधारणा

I. Acids is a substance which produces hydrogen ions in aqueous solution e.g. HCL, sulphuric acid.

अम्ल एक पदार्थ है जो जलीय घोल में हाइड्रोजन आयन उत्पन्न करता है जैसे एचसीएल, सल्फ्यूरिक एसिड।

II. Base is a substance which produces Hydroxide ion (OH) in aqueous solution e.g. sodium hydroxide and ammonium hydroxide etc.

क्षार एक पदार्थ जो जलीय घोल में हाइड्रोक्साइड आयन (OH-) पैदा करता है जैसे सोडियम हाइड्रोक्साइड और अमोनियम हाइड्रॉक्साइड आदि

According to Bronsted Lowery concept of Acids and Bases :

अम्लों और क्षारों की ब्रोनस्टेड लौरी अवधारणा

I. An acid is a molecule or ion which is capable of donating a proton.

एक अम्ल एक अणु या आयन है जो एक प्रोटॉन दान करने में सक्षम है।

II. A base is a molecule or ion which is capable of accepting a proton.

एक क्षार एक अणु या आयन है जो एक प्रोटॉन को स्वीकार करने में सक्षम है।

SSC CGL Chemistry
According to Lewis concept of Acids and Bases :

अम्लों और क्षारों की लुईस अवधारणा

I. An acid is a substance which can accept an electron e.g. boron fluoride (BF3) and carbon dioxide.

एक अम्ल एक पदार्थ है जो एक इलेक्ट्रॉन स्वीकार कर सकता हैं जैसे बोरान फ्लोराइड (BF3) और कार्बन डाइऑक्साइड।

II. Base is a substance which can produce an electron e.g. fluoride (F) and chloride (Cl).

एक क्षार एक पदार्थ है जो एक इलेक्ट्रॉन उत्पादित कर सकता हैं जैसे फ्लोराइड (एफ) और क्लोराइड (सीएल)।

Some important acids and their presence

acid 1

PH Scale

पी एच स्तर

I. PH value is a measure of the acidity or basicity of an aqueous solution.

पीएच मान एक जलीय घोल की अम्लता या क्षारकता का एक माप है।

II. Solution with PH value less than 7 is considered as acidic.

7 से कम  पीएच मान के घोल को अम्लीय के रूप में माना जाता है।

III. Solution with PH value greater than 7 is considered as basic.

7 से अधिक पीएच मान के घोल को क्षारीय के रूप में माना जाता है।

SSC CGL Chemistry
PH values of some important solutions

acid2

Buffer Solutions

बफर समाधान

I. The solutions which resists the change  in its PH value on addition of a small amount of acid or base  are called buffer solutions.

एक घोल जो छोटी सी मात्रा में अम्ल या क्षार मिलाने पर अपने पीएच स्तर के बदलाव का विरोध करे बफर समाधान कहलाता है ।

II. Acidic buffer solution has PH value less than 7.

अम्लीय बफर समाधान का पीएच मान 7 से कम होना चाहिए ।

III. Basic buffer has PH value greater than 7.

क्षारीय बफर समाधान का पीएच मान 7 से अधिक होना चाहिए ।

IV. PH value of blood is maintained with the help of H2CO3/HCO3 buffer inspite of many acidic foods we eat.

रक्त का पीएच मान कई अम्लीय  खाद्य पदार्थ खाने की बजाए H2CO3 / HCO3 बफर की मदद से बनाए रखा जाता है।

Salts

नमक

I.When acidic and basic solutions are mixed in proper proportion than their own nature is destroyed and salt is formed.

अम्लीय और क्षारीय घोल उचित अनुपात में मिश्रित किये जाते है तो इनकी अपनी प्रकृति नष्ट हो जाती है और नमक का निर्माण होता है

II. Acid turns blue litmus red and base turns red litmus blue.

अम्ल नीले लिटमस को लाल और क्षार लाल लिटमस को नीला कर देता है।

III. Formation of salts after mixing base and acidic is called as neutralization reaction.

अम्लीय और क्षारीय घोल के मिश्रण से नमक बनाने की प्रतिक्रिया निराकरण प्रतिक्रिया कहा जाता है ।

For More Articles You Can Visit On Below Links :

SSC CGL 2018 & 2019 Online Preparation New Batch

400 most important questions for SSC CGL Math Pinnacle

India’s 1st Hard Drive Course for SSC CGL 2018 & 2019

750 Most Important Questions For SSC CGL Economics

Spot The Error : 10 Important Questions from CGL 2016 Exam

SSC CGL 2018 Online Preparation new batch starting from 18th December

Indian History General Knowledge Questions Part 42/200

SSC CGL Paper 3 | Tier 2 JSO Study Material | SSC CGL Tier 2 Preparation | Day 3

SSC CGL 2018 Science Notes : Biological Classification

Chemistry notes Archives | SSC CGL, SSC CHSL, Exam Preparation

Now Get All Notifications And Updates In Your E-mail Account Just Enter Your E-mail Address Below And Verify Your Account To Get More Updates :

Enter your email address: Subscribe Pinnacle: